ये हैं दुनिया के टॉप 10 सबसे अमीर परिवार, जानिए कितनी है इनकी कुल संपत्ति

दुनिया

दुनिया के टॉप 10 परिवारों में भारत के अंबानी परिवार का भी नाम है. यहां टॉप 10 की सूची में 2 परिवार ऐसे हैं जो जर्मनी के हैं. तो चलिए नजर डालते हैं दुनिया के टॉप 10 सबसे अमीर परिवारों की सूची पर.

वैश्विक अर्थव्यवस्था में मार्च के बाद से बड़ी गिरावट देखी गई है क्योंकि कहीं न कहीं कोरोना वायरस ने बाजारों को धीमा किया है. लेकिन, जब आप दुनिया के सबसे अमीर परिवारों में से होते हैं तो आप पर इन सब चीजों का बेहद ही कम प्रभाव पड़ता है. उदाहरण के लिए, जनवरी के बाद से, मुकेश अंबानी ने ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स पर नौ स्थानों की छलांग लगाई है. 18 अगस्त तक, भारतीय अरबपति फोर्ब्स रियल टाइम बिलियनेयर्स सूची में चौथे स्थान से छठे स्थान पर आ गए थे.

आज हम आपके सामने कुछ ऐसे ही 10 परिवारों के नाम बताने जा रहे हैं जो दुनिया के टॉप 10 सबसे अमीर परिवारों की सूची में आते हैं.

1. वॉल्टन परिवार

वॉलमार्ट दुनिया में सबसे बड़ी रिटेल चेन है. ब्लूमबर्ग के अनुसार, दुनिया भर में 11,000 से अधिक स्टोर्स में उनकी बिक्री 524 बिलियन डॉलर यानी 39 लाख करोड़ है. वाल्टन परिवार अब तीन पीढ़ियों से पैसा लगा रहा है और कंपनी में आज भी उसकी लगभग आधी हिस्सेदारी है. यही कारण है कि वे दुनिया के सबसे धनी परिवारों में शीर्ष स्थान हासिल करते हैं. वर्तमान में, स्टुअर्ट वाल्टन कंपनी के निदेशक हैं.

कमाई का जरिया- वॉलमार्ट चेन ऑफ स्टोर्स

कुल मूल्य- 215 बिलियन डॉलर

2. मार्स परिवार

फ्रैंक मार्स ने एक स्कूली छात्र के रूप में चॉकलेट को हाथ से डिप करना सीखा और फिर बाद में इन्होंने मार्क इंक नाम की कंपनी खोली. हालांकि, कंपनी का 38 बिलियन डॉलर के राजस्व का आधे से अधिक हिस्सा पालतू पशुओं की देखभाल के उत्पादों से आता है. वर्तमान में चेयरपर्सन का पद संभालने वाले विक्टोरिया मार्स के साथ मार्स परिवार की पांच पीढ़ियां कारोबार का हिस्सा रही हैं.

कमाई का जरिया- मार्स इंक

कुल मूल्य- 120 मिलियन डॉलर

3. कोच परिवार

चार भाइयों, फ्रेड्रिक, चार्ल्स, डेविड और विलियम को अपने पिता की तेल फर्म विरासत में मिली. लेकिन 1980 के दशक में एक पारिवारिक झगड़े के बाद, चार्ल्स और डेविड ने फर्म की बागडोर संभाली, जबकि फ्रेड्रिक और विलियम वहां से चले गए. फर्म फिर कोच इंडस्ट्रीज में आगे बढ़ी और लगभग 115 बिलियन डॉलर का चौंका देने वाला वार्षिक राजस्व हासिल किया. पिछले साल, डेविड कोच का निधन हो गया. दूसरी ओर, चार्ल्स कोच अभी भी सीईओ बने हुए हैं.

कमाई का जरिया- कोच इंडस्ट्रीज

कुल मूल्य- 109.7 बिलियन डॉलर

4. अल सऊद परिवार

अल सऊद वह परिवार है जो पिछले 88 वर्षों से संयुक्त अरब अमीरात में सत्ता में है और रेगिस्तान को सोने की खान में बदल दिया. इसके अनुमानित 15,000 विस्तारित सदस्यों द्वारा नियंत्रित की जाती है. इनकी आय के स्रोत में सरकारी सौदों, भूमि सौदों और दूसरे व्यवसाय शामिल है. दरअसल, सऊदी के सातवें सम्राट के बेटे क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के पास 1 बिलियन डॉलर से अधिक की संपत्ति है.

कुल मूल्य- 95 बिलियन डॉलर

5. अंबानी परिवार

मुकेश अंबानी और उनका परिवार जाहिर तौर पर दुनिया के शीर्ष 10 सबसे अमीर परिवारों में एकमात्र भारतीय हैं. रिलायंस इंडस्ट्रीज की स्थापना 1957 में धीरूभाई अंबानी ने की थी, जिसे 2002 में उनकी मृत्यु के बाद उनके बेटों, मुकेश और अनिल के बीच बांट दिया गया था. मुकेश अंबानी आज मुंबई के सबसे बड़े समूह में से एक का नेतृत्व करते हैं, और रिलायंस इंडस्ट्रीज दुनिया के सबसे बड़े तेल शोधन परिसर का मालिक है.

उनका घर, प्रसिद्ध एंटिला, दुनिया के सबसे महंगे निजी आवासों में से एक है. मुकेश अंबानी के बच्चे, आकाश, ईशा और अनंत अंबानी, पारिवारिक व्यवसाय में शामिल हो गए हैं.

कमाई का जरिया- रिलायंस इंडस्ट्रीज़

कुल मूल्य- 81.3 बिलियन डॉलर

6. डुमा परिवार

जब आप अरमेस के बारे में सुनते हैं, तो आप बिर्किन बैग, सुंदर रेशम स्कार्फ और सिग्नेचर “एच” बेल्ट के बारे में जरूर सोचते हैं. जीन ल्यूज़ डुमास के प्रयासों के कारण, अरमेस एक वैश्विक लक्जरी ब्रांड बन गया, और हर किसी की इच्छा पर खरा उतरा. वह 1978 से 2006 तक अरमेस समूह के अध्यक्ष और कलात्मक निर्देशक थे. 2010 में उनका निधन हो गया. हालांकि, परिवार के सदस्य पियर-एलेक्सिस डुमास और एक्सल डुमास क्रमशः कलात्मक निर्देशक और अध्यक्ष बने रहे.

कमाई का जरिया- अरमेस

कुल मूल्य- 63.9 बिलियन डॉलर

7. वर्थाइमर परिवार

ब्लूमबर्ग के मुताबिक, 2019 में शनेल को 12 बिलियन डॉलर का राजस्व मिला. जबकि हम सभी कोको चैनल को जानते हैं, पियर वर्थाइमर वो व्यक्ति थे जिन्होंने उनके साथ परफ्यूम कॉन्ट्रैक्ट पर समझौता किया. उनके पोते, एलेन और जेरार्ड, वर्तमान में फैशन हाउस चलाने वाले प्रमुख लोग हैं. शनेल के अलावा वर्थाइमर परिवार घुड़सवारी का भी मालिक है.

कमाई का जरिया- शनेल

कुल मूल्य- 54.4 बिलियन डॉलर

8. जॉनसन परिवार

एडवर्ड सी जॉनसन II ने 1946 में बोस्टन में एक म्यूचुअल फंड फर्म की स्थापना की, जो अब एक साम्राज्य में बदल गई है, और जिसे अब उनकी पोती एबेगेल संभालती हैं.

कमाई का जरिया- फिडेलिटी निवेश

कुल मूल्य- 46.3 बिलियन डॉलर

9. बेहरिंगर बन बाउमबाक परिवार

दुनिया में दो सबसे अमीर परिवार जर्मनी से हैं. पहला बेहरिंगर बन बाउमबाक परिवार और दूसरा अल्ब्रेक्ट परिवार है. 1885 में, अल्बर्ट बेहरिंगर ने एक जर्मन फ़ार्मास्यूटिकल कंपनी की स्थापना की, जिसका नाम बेहरिंगर इंगेलहाइम था. कंपनी अब 130 साल से अधिक पुरानी है, लेकिन इसका विकास जारी है.

कोरोनावायरस के समय में, कंपनी एक मिलियन से अधिक कम्पाउंड की जांच कर रही है जो संभावित मॉलिक्यूल की पहचान कर सकते हैं और वायरस से लड़ने में मदद कर सकते हैं.

कमाई का जरिया- बेहरिंगर इंगेलहाइम

कुल मूल्य- 45.7 बिलियन डॉलर

10. अलब्रेक्ट परिवार

दो भाई, थियो और कार्ल, द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ड्यूटी पर रहने के बाद अपने माता-पिता के किराने की दुकान को संभालना शुरू कर दिया. इन वर्षों में, इन दोनों भाइयों ने इस दुकान को अल्डी में बदल दिया जो डिस्काउंट सुपरमार्केट का एक जर्मन चेन है. हालांकि, 1960 में दोनों विभाजित हो गए और अपनी खुद की कंपनियां, यानी, Aldi Nord और Aldi Sued का गठन किया. 1979 में थियो ने अपने दोनों बेटों को इस बिजनेस में लगा दिया तो वहीं 2014 में कार्ल के निधन के बाद इनके भी दोनों बेटे बिजनेस संभालने लगे.

कमाई का जरिया- अल्डी

कुल मूल्य- 41 बिलियन डॉलर

Leave a Reply