गहलोत मंत्री मण्डल का विस्तार, सम्भावित मंत्रियो के नाम तय

राजनीति

आखिर कब तक चलेगा ये मंत्री मण्डल के विस्तार का खेल….पिछले 6 माह से चल रहा है राजस्थान में लुका छुपी का खेल…मंत्री मण्डल का विस्तार बना हुआ है विचित्र मसला…आपस में ही समाजस्य नही बैठा पा रहे है कांग्रेस के प्रदेश के नेता…बार बार कांग्रेस आलाकमान को करना पड़ता है हस्तक्षेप

जयपुर I कांग्रेस आलाकमान राजस्थान में कांग्रेस को मजबूत करने और पार्टी में चल रहे असंतोष के कारण राजस्थान में आमजन में कांग्रेस के प्रति नकारात्मक रवैया और सोच को बदलने के लिए तथा असंतुष्ट को संतुष्ट कर राजस्थान में आगामी 3 सालों के अंदर कांग्रेस अपना एंपायर मजबूत कर ले और आगामी विधानसभा चुनाव में फिर पार्टी की सरकार बने इसी सोच और गणित को लेकर आलाकमान ने राजस्थान के प्रभारी को दिशा निर्देश दिए हैं कि राजस्थान में गहलोत मंत्रिमंडल का विस्तार फरवरी के प्रथम सप्ताह में हो जाए मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने वालों के नाम तैयार कर ले आलाकमान के निर्देश के बाद संभावना है कि फरवरी के प्रथम सप्ताह में गहलोत मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है
सूत्रों के अनुसार कांग्रेस आलाकमान ने राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी महासचिव अजय माकन को निर्देश दिया है कि जल्दी राज्य में कैबिनेट विस्तार की मछली को सुलझाए जिससे रुके हुए कार्य जल्द पूरा हो ऐसे में कहा जा रहा है कि राजस्थान में इस सप्ताह में कैबिनेट विस्तार की प्रक्रिया पूरी हो सकती है
राजस्थान के मंत्रिमंडल विस्तार में कांग्रेस के गहलोत कोटे से बृजेंद्र ओला, हेमाराम चौधरी, दीपेंद्र सिंह शेखावत जबकि पायलट कोटे से मुरारी लाल मीणा, रमेश मीणा और विश्वेंद्र सिंह है वही तीन निर्दलीय बाबूलाल नागर, संयम लोढा और महादेव सिंह खंडेला को शामिल किए जाने की बात कही जा रही है जबकि बसपा से शामिल हुए राजेंद्र गुढा और जोगेंद्र सिंह अवाना भी मंत्री बनाए जा सकते हैं

Leave a Reply